Inflation क्या है | Inflation का प्रभाव | What is inflation | Effect of Inflation |

 

Inflation क्या है | Inflation का प्रभाव | What is inflation | Effect of Inflation |
Inflation क्या है | Inflation का प्रभाव | What is inflation | Effect of Inflation |

Introduction

Hello दोस्तों यहाँ पर हम Inflation के बारे में समझेंगे। जिसको बड़े-बड़े Economics Experts के द्वारा राक्षस का नाम दिया हुआ है। जो आपकी बनाई हुई Saving को खा जाता है। Inflation को आम भाषा में महंगाई भी कह सकते हैं। पर दोस्तों आपको इससे डरने की जरूरत नहीं है, पर आपको इससे लड़ने की जरूरत है।

आम भाषा में समझे तो महंगाई बढ़ने से आप के खर्चे बढ़ेंगे जिससे आप डर जाओगे। इससे लड़ने का उपाय एक ही है, इसके सामने लड़ने के लिए आप अपनी Income बढ़ा लो, और वह कैसे बढ़ाएंगे कैसे महंगाई के सामने लड़ेंगे वह इस पोस्ट में आप समझेंगे।

Inflation क्या होता है ?

Inflation एक तरह से महंगाई भी बोल सकते हैं। जब कभी किसी देश में बिकने वाली सभी चीजों के दाम बढ़ जाते हैं तो उसे Inflation (महंगाई) बोल सकते हैं। सरकार अपनी पूरी कोशिश करती है कि मंगाई काबू में रहे। Inflation को Percentage पर मापा जाता है, इसे आमतौर पर Inflation Rate कहाँ जाता है।

Inflation Rate कहां तक सही है ?

सभी देश अपने-अपने हिसाब से एक Range बनाकर रखते हैं। ताकि अगर Inflation Rate Range के बाहर जाए या नीचे जाए तो वह तुरंत ही Range मैं लाने का प्रयास करें। यहाँ पर दो तरह के देश होते हैं।

  • Develop Country : यह देश वह होते जो पहले से ही Developed है जैसे कि अमेरिका यह देश अपना Inflation Rate 2% से 3% के बीच में रखने का प्रयास करते हैं।
 
  • Developing Country : यह देश वह होते जो Development कर रहे हैं। और आगे जाकर Developed हो सकते है। जैसे कि भारत यह देश ज्यादातर अपना Inflation Rate 3% से 6% तक रखने का प्रयास करते हैं।

अगर किसी भी देश का Inflation Rate Range के अंदर होता है तब तक सही है पर अगर इसके ऊपर या नीचे चला जाता है तो वह खतरे की घंटी होती है।

Inflation Rate बढ़ने और घटने का कारण क्या होता है ?

यहाँ पर कोई भी Economics Experts एक कारण बता नहीं सकता कि Inflation बढ़ और घट क्यों रहा है। क्योंकि इसके पीछे बहुत सारे कारण होते हैं। लेकिन कुछ कारण ऐसे होते हैं जिसको 3 भाग में समझ सकते हैं।

  • Cost Inflation : अगर किसी Raw Material का भाव बढ़ जाता है तो उससे जुड़े हुए सभी चीजों के दाम बढ़ जाते हैं। जैसे कि अगर Petroleum Product का दाम बढ़ गया तो उससे जुड़े हुए Taxi , Auto, Transport से जुड़ी हुई सभी चीजों के दाम बढ़ सकते हैं। जिसकी वजह से महंगाई दर भी बढ़ सकता है अगर इससे उल्टा हो जाए तो महंगाई दर कम भी हो सकती है।
 
  • Demand Inflation : अगर सभी लोगों की आमदनी बढ़ जाए तो भी महंगाई दर बढ़ सकती है। क्योंकि अगर आपके पास ज्यादा पैसे होंगे तो आप ज्यादा खर्चे करेंगे। पर जो Material की Supply कम होती है, वह तुरंत बढ़ नहीं सकती जिसकी वजह से महंगाई दर बढ़ सकती है। इससे उल्टा हो जाए Covid 19 के समय पर सभी लोगों की आमदनी कम हो गई थी जिसकी वजह से लोगों ने खर्च करना कम कर दिया था और महंगाई दर भी कम हो गई थी।
 
  • Government Policy Inflation : कभी-कभी Government भी अपनी Policies मैं बदलाव करती रहती है। इसका असर महंगाई दर पर होता है। अगर Government ज्यादा पैसे को मार्केट में उतार दे या फिर ज्यादा Development project चालू कर दे तो उसका असर से महंगाई दर बढ़ सकती है। और इसे उल्टा बंद कर दे तो महंगाई दर घट सकती है।

Inflation से बचने के उपाय ?

जैसा कि मैंने पहले बताया था Inflation से हमें डरना नहीं है लड़ना है। तो लड़ने के लिए आपको बचने का उपाय जानना जरूरी है। Inflation से बचने का एक ही उपाय है। जितने Percentage पर Inflation चल रहा है उसके दुखने Percentage की Income बढ़ा लो। जैसे कि Inflation 4% की है तो आप अपनी इन्वेस्टमेंट को 8% Return मिले वहाँ पर लगा लो।

 

आप सोचते होंगे कि 8% Return कहाँ मिलता है। तो मैं आपको बता दूं कई सारे Mutual Fund होते हैं, जो 15% की एवरेज से भी रिटर्न दे रहे हैं। और अगर आपको ज्यादा रिस्क नहीं लेना है तो कई सारे Debt Mutual Fund मैं आपको 8% तक का रिटर्न मिल जाता है।

Inflation सही है कि गलत है ?

अगर आप Inflation को सही और गलत के तराजू में तोलेंगे तो यह आपकी भूल होगी। क्योंकि अगर Inflation एक Range मैं रहेगा तो सही है। लेकिन अगर बाहर जाएगा तो गलत है।

 

इसे एक उदाहरण से समझते हैं समझो अगर आप कहीं पर नौकरी कर रहे हो तो आपको देने वाली Salary आपके शेठ के लिए खर्चा है। और आपके सेठ के पास खरीदी करने कोई आएगा तो ही उसकी आमदनी होगी और खरीदी करने वाले का खर्चा होगा। लेकिन अगर ना ही किसी की आमदनी होगी, और ना ही कोई खर्चा करेगा, तो Inflation Rate कम तो हो जाएगा, पर Economy ठप हो जाएगी। ऐसी ही परिस्थिति Covid 19 के समय पर हुई थी। जिसके लिए Government ने अपने सभी Employees को 10000 तक का pre paid Debit Card दिया था। इसका इस्तेमाल वह लोग खरीदी करने के लिए कर सकते थे। ताकि Inflation Rate ऊपर आए और Economy चलने लगे।

Conclusion

दोस्तों मैंने यहाँ पर Inflation क्या होता है ? उसका क्या असर होता है ? कहाँ तक सही है ? और इससे कैसे बचें ? इसके बारे में समझाने का प्रयास किया है। मैं मानता हूँ कि आपको समझ में आया होगा। अगर आपको कुछ चीजें समझ में ना आए हो, या कुछ पूछना हो तो आप नीचे Comment करके पूछ सकते हो। इसके अलावा अगर आपको Mutual Fund, Account, Tally, Tax और Investment के बारे में कुछ भी जानकारी चाहिए तो आप Comment Box मैं पूछ ले। हो सके उतनी जल्दी जवाब देने का प्रयास करूंगा।

Leave a Comment