Tally में Ledger Create कैसे करे | How to Create Ledger in Tally |

Tally में Ledger Create कैसे करे |  How to Create Ledger  in Tally |
Tally में Ledger Create कैसे करे |  How to Create Ledger  in Tally |

Introduction

यहां पर आप नया लेजर कैसे क्रिएट करेंगे इसके बारे में पढ़ेंगे अभी आपके पास नई कंपनी, या नया खर्चा, आता है यह नया लेजर, क्रिएट करने के लिए आता है तब आप इसका इस्तेमाल कर सकते हो।

Ledger selection

Tally Solution Account information
Tally Solution Account information

ऊपर दिखाए गए चित्र में आप देख सकते हो, लेजर क्रिएट करने के लिए दूसरे नंबर पर लेजर का ऑप्शन दिख रहा है, जैसी आप उसके अंदर इंटर मारेंगे तो आपके सामने नीचे वाली स्क्रीन सामने आ जाएगी।

Ledger Creation

Tally Solution Ledger Creation
Tally Solution Ledger Creation

ऊपर दिखाए गए चित्र में आप देख सकते हो यहां पर  लेजर के बारे में जानकारी दी गई है, पहला सिंगल लेजर, और मल्टीपल लेजर, जिसके बारे में आप आगे समझेंगे।

1 , 2 , 3, 4) Single Ledger (Create , Display,  Alter)

जैसे ऊपर के चित्र में दिखाया गया है 1 से 4 में आप सिंगल लेजर को बना(Create) सकते हैं, देख (Display)भी सकते हैं, और उसको बदल (Alter)भी सकते हैं।

5 , 6 , 7 , 8) Multiple Ledger (Create , Display,  Alter)

जैसे ऊपर के चित्र में दिखाया गया है 5 से 8 मल्टीपल लेजर बना (Create) सकते हैं, देख (Display)सकते हैं, बदल (Alter)सकते हैं। जिसके बारे में आप विस्तार में समझेंगे

Single Ledger Creation Setting 

Tally Solution Single Ledger Creation Setting
Tally Solution Single Ledger Creation Setting

ऊपर दिखाए गए चित्र में आप देख सकते हो मैंने सभी मुख्य चीजों को क्रमांक से निर्देशित किया है आप जिसके चलते समझ सकते हैं।

1) Ledger Creation

जैसे कि आप ऊपर के चित्र में देख रहे हैं पहले नंबर पर लेजर क्रिएशन लिखा हुआ है यहां से आप लेजर बना सकते हैं।

2) Name /Alias

यहां पर आप जो भी लेजर बनाना चाहते थे उसका Name & Alias लिखेंगे  जैसे कि चंदूलल एंड कंपनी। नाम लिखना अनिवार्य है। अलायंस लिखना अनिवार्य नहीं है। अलायंस एक तरह का शॉर्टफॉर्म है। जैसे कि यहां पर आप चंदूलाल लिख सकते हैं।

3) Under

यहां पर आप यह लेजर जिस भी ग्रुप के अंदर आता है  वह लिखना है। Tally में पहले से ही बहुत सारे ग्रुप बनाए हुए हैं। जैसे कि Sundry Creditors,  Debtors, Loan Etc कौन सा लेजर कौन से ग्रुप में आएगा के बारे में मैं पहले से ही पिछले पोस्ट में बता चुका हूं।

4) Inventory value, Interest calculation

यहां पर आपको जो भी लेजर में इन्वेंटरी चाहिए तो आप यस कर सकते हैं। पर मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि सभी लेजर में इन्वेंटरी की जरूरत नहीं रहती है। आपको सिर्फ सेल और परचेस के मैंने अकाउंट में जरूरत रहती है। इंटरेस्ट कैलकुलेशन को यस करने पर 5 नंबर की स्क्रीन ओपन होती है जिसके बारे में मैं आगे समझा लूंगा।

5) Interest Parameter

जैसे आप इंटरेस्ट ऊपर यस दबाएंगे तो आपके सामने पांच नंबर की स्क्रीन खुल जाएंगी। ऊपर दिखाई गई स्क्रीन में आप देख सकते हैं कि पांच नंबर में इंटरेस्ट पैरामीटर है। जिसमें आप ब्याज का परसेंटेज डालकर Interest गिन सकते हो।  पर उसके लिए आपको साल का परसेंटेज कितना है, या फिर महीने के हिसाब से गिरना है, वह बाजू में दिए हुए मेनू में सिलेक्ट करना होगा। अगर आप साल का 12% लगा रहे हो, तो आप 365 डेज या फिर कैलेंडर ईयर सिलेक्ट करें। अगर आप 1% लगा रहे हो तो 30 दिन या फिर कैलेंडर मंथ सिलेक्ट करें।

6) Tds Selectable

यहां पर आप अगर लेजर में टीडीएस एप्लीकेबल है। तो आप इसका प्रयोग करें यह बहुत जटिल सेटिंग्स होती है, आप से विनती है कि एक बार आप एक्सपर्ट हो जाओ उसके बाद ही इसका प्रयोग करें। जिसके बारे में मैं आपको बाद में बताऊंगा।

7) Name Address

यहां पर आपको जो भी लेजर बनाना है उसका नाम और एड्रेस डालना है जिसे आप जब कंपनी का लेजर या तो बिल प्रिंट निकाले तब वह आए।

8) Bank Detail

यहां पर आप जो भी लेजर Create करना चाहते हो उसकी बैंक डिटेल डाल सकते हो।  ताकि कभी भी आपको उसकी जरूरत पड़े तो आपको यहां से मिल जाए।

9) PAN Number

यहां पर आप जो भी पार्टी का लेजर Add करना चाहते हैं इसका पैन नंबर लिख सकते है। ताकि कभी भी आपको की जरुरत पड़े तो मिल सके।

10) Registration Type / GST Number 

यहां पर आप जो भी लेजर बनाना चाहते हैं उसका जो रजिस्ट्रेशन टाइप है, वह सिलेक्ट कर सकते हैं। जैसे कि consumers, Unregistered, Regular, Composition और जीएसटी नंबर भी यहां लिख सकते हैं।

11) Set Alter GST Detail

यहां पर आप जीएसटी की डिटेल चेंज कर सकते है जैसे आप यस दबाएंगे तो आपके सामने 12 नंबर की स्क्रीन ओपन हो जाएगी जिसके बारे में आप आगे समझेंगे।

12) GST Detail

यहां पर आपको स्क्रीन में दिख रहा होगा की लेजर की एडवांस सेटिंग चेंज करने का ऑप्शन है, इसमें से 2 को हमने 10 नंबर में देख लिया है।

अगर तो पार्टी Other territory है तो आप यहां पर यस कर सकते हैं। जैसे कि SEZ Area

अगर तो पार्टी ई-कॉमर्स ऑपरेटर है तो आप यहां पर यश कर सकते हैं जैसे कि अमेजॉन और फ्लिपकार्ट।

अगर तो पार्टी ट्रांसपोर्टर यह तो आप यहां पे यस कर सकते हैं ताकि आपको ई वे बिल बनाने में काम आएगी।

Multiple Ledger Creation Setting

Tally Solution Multiple Ledger Creation
Tally Solution Multiple Ledger Creation

1) Multiple Ledger Creation 

यहां पर आप देख सकते हैं मल्टीपल लेजर क्रिएशन लिखा हुआ है आप यहां से मल्टीपल लेजर Create कर सकते हैं।

2) Name of Ledger 

यहां पर आप जो भी लेजर क्रिएट करना चाहते हैं वह आप लिख सकते है।

3) Group

यहां पर आप लेजर जो भी ग्रुप में क्रिएट करना चाहते हैं वह सिलेक्ट कर सकते हैं। Tally में पहले से ही बहुत सारे ग्रुप पहले से ही बनाए हुए होते हैं।

4) Opening Balance 

यहां पर आप जब नई कंपनी ओपन करते हैं तो आपको पिछले साल के बैलेंस शीट की ओपनिंग बैलेंस डालनी होती है तो आप यहां से डाल सकते हैं।

Leave a Comment