Accounting मैं Depreciation क्या होता है | What is Depreciation in Accounting |

0
163
Accounting मैं Depreciation क्या होता है | What is Depreciation in Accounting | 

 

 Accounting मैं Depreciation क्या होता है | What is Depreciation in Accounting | 
Accounting मैं Depreciation क्या होता है | What is Depreciation in Accounting | 

Introduction

Hello दोस्तों हम यहाँ पर Accounting में इस्तेमाल होने वाले महत्त्वपूर्ण शब्द Depreciation के बारे में समझेंगे। Depreciation को हिन्दी में मूल्यह्रास भी कहा जाता है। Depreciation के बारे में जानने से पहले उसके विरोधी शब्द Appreciation के बारे में जानना भी जरूरी है। जिसको को हिन्दी में मूल्य वृद्धि भी कहते हैं।

 

Depreciation ज्यादातर Fixed Assets पर लगता है। लेकिन सभी Fixed Assets पर नहीं लगता, कौन से पर लगेगा कौनसे पर नहीं लगेगा यह निकालने के लिए आपको Depreciation और Appreciation के बारे में जानना जरूरी है। एक बार आप यह समझ गए तो किसी भी तरह का Confusion नहीं रहेगा। Government मैं पहले से ही Percentage निर्धारित किए हैं किसके ऊपर कितना Percentage लगेगा सभी चीजों को यहाँ पर समझेंगे।

Appreciation क्या होता है ? 

जैसे कि आप जानते हो Appreciation को हिन्दी में मूल्य वृद्धि भी कहते हैं। जैसे कि आप नाम से समझ सकते हो यहाँ पर मूल्य की बुद्धि होती है। आप यह सोचते होंगे कि ऐसी कौन-सी चीज है जिसकी मूल्य वृद्धि होती है। तो मैं आपको बता दूं Land , Flat , Property ऐसी चीजें होती है, जिसके अंदर Purchase करने के 1 साल बाद Value बढ़ जाती है। उसको हम Appreciation कहेंगे, और जहाँ पर Appreciation है वहाँ पर Depreciation नहीं लग सकता। क्योंकि। मैंने ऊपर ही बताया था दोनों विरोधाभास है।

Depreciation क्या होता है ?

जैसे कि आप जानते हो Depreciation को हिन्दी में मूल्यह्रास भी कहते हैं। जैसे कि आप नाम से समझ गए होंगे यहाँ पर मूल्य की कमी हो जाती है। आप यह सोचते होंगे कि ऐसी कौन-सी चीजें है जिसकी मूल्य कम हो जाती है। तो मैं आपको बता दूं Mobile , Car , Computer , Machine ऐसी चीजें है। जिसके अंदर Purchase करने के 1 साल बाद उसकी Value कम हो जाती है। जिसे हम Depreciation कहेंगे और जहाँ Depreciation है वहाँ Appreciation नहीं हो सकता। क्योंकि मैंने ऊपर ही बताया था दोनों विरोधाभास है।

Depreciation क्यों जरूरी है ?

आप समझ गए होंगे कि Depreciation से Fixed Assets की Value कम हो जाती है, और सही Value का पता आपको तभी चलेगा जब आप उसे बेचने जाओगे। पर तब Fixed Assets की Value या तो बहुत कम हो गई रहेगी, या तो Fixed Assets बिगड़ जाने पर आप उसे Scrap मैं बेच दोगे। जिसकी वजह से उसकी Value ना के बराबर होगी। इसी के Solution के तौर पर Depreciation लाया गया है। जिसके लिए Government ने आमतौर पर Fixed Assets कितने Percentage Depreciation होगा वह Percentage निर्धारित किया है  जिसके हिसाब से आपको उतना Amount खर्चे में डालना होता है।

 

ऐसा करने पर आपकी Fixed Assets की Value साल दर साल कम होती जाएगी, और खर्चों में Transfer होती जाएगी, अगर ऐसा नहीं होता तो किसी साल Profit बहुत ज्यादा होता, और किसी साल Profit की जगह Loss आ जाता, इसके बारे में हम उदाहरण से समझते हैं।

 

अगर आपने 10Lakh की गाड़ी ली है और उसको 7 साल के बाद 321000 मैं बेच दोगे, पर अगर वही साल आपका Profit 6 Lakh का है, तो आप Loss मैं चले जाओगे।

 

600000 Profit-679000 Loss on Sale of Car = 79000 Loss

 

पर अगर आप हर साल Depreciation डालते जाओगे, तो आप प्रॉफिट में रहोगे। एक उदाहरण से समझते हैं जैसे कि Car के ऊपर Government ने 15% Depreciation निर्देशित किया है। तो नीचे दिखाए गए Calculation के हिसाब से अगर आप गाड़ी को 321000 बेच दोगे तो भी आप Profit मैं रहोगे।

 
Calculation 👇
 
Depreciation Calculation
Depreciation Calculation

जैसे कि आप ऊपर के दिखाए गए फोटो में देख सकते हो मैंने 7 साल का Depreciation Calculation किया है। जिसके अंदर 7 साल के बाद Car की Value 320577 रुपया होती है। और ऊपर दिखाए गए उदाहरण के हिसाब से अगर यह Car 321000 रुपया में sale किया जाए तो भी 423 रुपए का प्रॉफिट बनता है। और Company का Profit 6 Lakh काहे तो 600423 total profit हो जाएगा।

 
600000 Profit + 423 Profit on Sale of car = 600423 total profit

Appreciation क्यों जरूरी नहीं है ? 

यहाँ पर आप यह सोचते होंगे कि अगर हम Depreciation को खर्चे में डालकर Loss दिखा देते हैं। तो क्यों ना Appreciation को डालकर Profit दिखा दे, इसमें आपको एक बात समझ नहीं है, हर साल आपको Appreciation मिले ऐसा जरूरी नहीं है। पर अगर आपको मिल भी जाता है, और उसी दाम पर बिकता है, तो Government ने उसके लिए अलग से Capital Gain नाम की व्यवस्था की है। जिसके अंदर हर साल लगने वाला Inflation भी शामिल होता है।

 

Depreciation Rate Chart👇

Depreciation Chart
Depreciation Chart

जैसा कि आप ऊपर देख सकते हो यहाँ पर मुख्यतः 3 तरह के Depreciation Percentage है

 
  • Furniture : आपके सभी Furniture के ऊपर 10% का ही Depreciation लगाना होता है।
 
  • Machinery  : आपके सभी Machinery मैं आने बालों के ऊपर 15% Depreciation लगाना है।
 
  • Computer Laptop software : आपके सभी Computer Laptop software के ऊपर 40% Depreciation लगाना है।

TIPS अगर आप कोई छोटी Fixed Assets खरीदते हो जिसकी कीमत 5000 से नीचे है तो आप उसे Fixed Assets मैं ना डाल कर Expenses मैं डाल सकते हो। जैसे कि Telephone जो मुश्किल से 1500 का आता है।

Conclusion

दोस्तों मैंने यहाँ पर Depreciation से जुड़ी हुई सभी जानकारी देने का प्रयास किया है। पर अगर आपको कुछ समझ में ना आए या फिर पूछना हो तो आप नीचे Comment कर के पूछ सकते हो। इसके अलावा अगर आपको Mutual Fund, Account, Tally, Tax और Investment के बारे में कुछ भी जानकारी चाहिए तो आप Comment Box मैं पूछ ले। हो सके उतनी जल्दी जवाब देने का प्रयास करूंगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here