व्यक्तिगत Finance | Personal Finance |

0
172
व्यक्तिगत Finance | Personal Finance |
व्यक्तिगत Finance | Personal Finance |

Introduction

नमस्कार दोस्तों आप जैसे ही यह पोस्ट में आएंगे तो आप सोचेंगे कि यह ब्लॉग पर मैं एकाउंटिंग और टैली के बारे में जानकारी दे रहा हूँ। तो मैं फाइनेंस के बारे में जानकारी क्यों दे रहा हूँ। दोस्तों एकाउंटिंग से आप पैसे तो कमा सकते हो। लेकिन पैसा बचाना और इन्वेस्टमेंट करना भी ज़रूरी है। यहाँ पर मैं एक इंग्लिश मुहावरा बताता हूँ की।

It is Not Important How Much You Earn, It is Important How Much You Save”

दोस्तों मैंने देखा है कि बहुत सारे लोगों को पर्सनल फाइनेंस के बारे में जानकारी नहीं होती। या सही तरीके की जानकारी नहीं होती। वैसे तो मैं कोई फाइनेंसियल एडवाइजर नहीं हूँ पर कुछ जानकारियाँ रखता हूँ।

व्यक्तिगत Finance। मतलब Personal Finance। के मुख्य तीन स्तंभ हे।

आय (Income) 

यहाँ पर Income का मतलब जो भी आप महीने का कमाते हो। जैसे कि आपको महीने की Salary मिलती है, या फिर आप के धंधे में से जो आप Drawing करते हो।

ख़र्च (Expenses) 

यहाँ Expenses का मतलब यह है कि आपके घर का ख़र्च, बच्चों की पढ़ाई का ख़र्च, और दूसरे भी Luxury खर्च।

बचत (Saving / Investing) 

यहाँ Saving / Investing का मतलब यह है कि  आपके Income और Expenses के बाद जो भी बचाते हो।

कहाँ और कितनी मात्रा में ख़र्च करना चाहिए और कितनी मात्रा में बचत करना चाहिए इसके बारे में आप नीचे के चित्र में देख सकते हैं।

Investment Metrics
Investment Metrics

यहां ऊपर के दिखाए गए चित्र में आप देख सकते हो की  मैंने तीन अलग-अलग कलर से  दिखाया है। यह आप पूरा गोल देख रहे हो वह आपकी इनकम है।

जिसमें से 50 % आपको अपनी जरूरत की चीजों के लिए खर्च करना चाहिए। जैसे कि आपके खाने पीने का खर्च, आपके घर का खर्च, आपके बच्चों के पढ़ाई का खर्च।

जिसमें से 20% आपको Luxury / आनंद के खर्च के लिए करना चाहिए। जैसे कि Movie देखना,  घूमने जाना, होटल मे खाना खाने जाना। यह जो खर्च है इसके लिए आपको मन को मजबूत करके करना होगा। जैसे ही आप इस खर्च पर अंकुश लगा देंगे आप देखोगे आपके पास बचत करने के लिए ज्यादा पैसे होंगे।

बाकी के बचे हुए पैसे को आप बचत कर सकते हैं। पर ध्यान रहे आपको अपनी इनकम के कम से कम 30 % इन्वेस्टमेंट करना जरूरी है। इन्वेस्टमेंट करने के बहुत सारे तरीके हैं। आपको किस तरीके से करना चाहिए वह जानना जरूरी है।

दोस्तों यहां पर मैंने व्यक्तिगत फाइनेंस किस हिसाब से करनी चाहिए वह बताया है। अभी आगे आने वाले ब्लॉग में मैं आपको बताऊंगा कि आप अपनी बचत कहां पर, किस में और किस प्रतिशत में करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here